Ticker

6/recent/ticker-posts

Ad Code

best mendhi status in hindi with images || statusbio.seasonoflove.online ||

A collection of the top 9+ Mehndi Shayarie😍 available for Statusbio seasonoflove.online. We hope you enjoy our growing collection of Solid Attitude Status. Please Contact US if you want to publish an Mehndi Shayarie😍 on our site.

Mehndi Shayarie

1)मिल नहीं सकते दोनों है मजबूर बहुत उसके हाथों में मेहंदी लगी है और मेरे पैरों में छाले मेहंदी लगाने का जो खयाल आया आपको
सूखे हुए मेहंदी के पेड़ फिर से हरे हो गए मसल रहे हैं वह अपने हाथों पर मेहंदी हम यहां जमीन पर एड़िया रगड़ते हैं

हमारे खून का रंग क्या फीका था मेहंदी किस वास्ते हाथों में रचाई प्यारे मुझे भूख नहीं लगती खाना खाने के बाद

और मुझे नींद नहीं आती सो जाने के बाद मेरे पास दो ही समोसे थे जो मैंने खा लिए एक तेरे आने से पहले एक तेरे जाने के बाद

👉: Best Instagram Bio

👉: HD Teddy Bear Images

2)कोशिश ये नहीं,,,,कि मैं संभल जाऊं,,,,ख्वाहिश ये है,,,,कि तुम भी बहक जाओ,,,,

               Mehndi, Design, Mehendi, Training, Center, Tattoo

 3)मेहंदी लगाए बैठे हैं कुछ इस अदा से वो मुट्ठी में उन की दे दे कोई दिल निकाल के


 4)मेहंदी का रंग, चढ़ के उतर गया चूड़ी, कंगन, टूटकर बिखर गया पाज़ेब,नथ


5)जब सजन हैं परदेस में प्यारे तो हाथ पर मेहंदी रचाकर क्या होगा दिल भी मसल के डाल दे कभी आज़म का ओ बेदर्द ,,,,,हाथों पर मेहंदी लगाने वाले पूरी मेहंदी भी नहीं आती लगाना तुझको क्यों तुझे आ गया गैरों से लगाना दिल को                                                     




  6)लिपट कर रोयें बेटियों से वो अपनी हालत पर,जो कहेते थे विरासत के लिए बेटा जरूरी  है...

7)तेरे मेहँदी लगे हाथों पे मेरा नाम लिखा है ज़रा से लफ्ज़ में कितना पैगाम लिखा है यह तेरी शान के काबिल नहीं लकिन मजबूरी है तेरी मस्ती भरी आँखों को मैंने जाम लिखा है मैं शायर हूँ ,मगर आगे न बढ़ पाया रिवायत से लबों को पंखुड़ी ,ज़ुल्फ़ों को मैंने शाम लिखा है मुझे मौत आएगी जब भी ,तेरे पहलू में आएगी तेरे ग़म ने बहुत अच्छा मेरा अंजाम लिखा है

8)बेटियां सब के  मुक्कदर में कहा होती है,,घर खुदा को जो पसंद आता है  बेटियां उस घर में होती है । I love u papa

9)अपने एहसास से छू कर मुझे संदल कर दो, कि मैं सदियों से अधूरा हूँ मुकम्मल कर दो ..न तुम्हें होश रहे और न मुझे होश रहे, इस क़दर टूट के चाहो मुझे पागल कर दो.. तुम अपनी हथेली को मेरे प्यार की मेहंदी से रंगो, अपनी आँखों में मेरे नाम का काजल कर दो..


10)परख ना सकोगे ऐसी शख्सियत है मेरी, मैं उन्हीं के लिए हूं जो जाने कदर मेरी..

 

Post a Comment

0 Comments